Tuesday, August 11, 2009

"मेरी पसंद" - ...दिन में कब सोचा करते थे

"मेरी पसंद" - ...दिन में कब सोचा करते थे....


"मेरी पसंद" सृंखला के अंतर्गत प्रस्तुत है दिल को छू जाने वाले गीत

Visit: मेरी पत्रिका, http://www.meri-patrika.blogspot.com/

4 comments:

Harkirat Haqeer said...

आपकी पसंद अच्छी लगी .....!!

Mumukshh Ki Rachanain said...

आपकी पसंद अपनी पसंद से काफी मिलती-जुलती सी लगी.
हार्दिक आभार.

चन्द्र मोहन गुप्त
जयपुर
www.cmgupta.blogspot.com

Anonymous said...

लाजवाब गीत है। धन्यवाद।
वैज्ञानिक दृ‍ष्टिकोण अपनाएं, राष्ट्र को उन्नति पथ पर ले जाएं।

singamaraja said...

Visiting your blog